सूक्ष्मजीव: मित्र एवं शत्रु (Micro-Organisms: Friend and Foe ) NCERT Class 8 Science Chapter 2 Notes in Hindi Medium.


Chapter 2: सूक्ष्मजीव: मित्र एवं शत्रु (Micro-Organisms: Friend and Foe )



प्रमुख शब्द :

प्रतिजैविक (एंटीबायोटिक) – यह सूक्ष्मजीवों द्वारा बनाया गया औषधि है | जिसका प्रयोग बीमारी उत्पन्न करने वाले सूक्ष्मजीवो को नष्ट करने के लिए करते हैं | पैनिसिलिन एक प्रकार का प्रतिजैविक है जिसका खोज सन् 1929 में एलेक्जेडर फ्लेमिंग  ने किया था |

► जब रोगकारक सूक्ष्मजीव हमारे शरीर में प्रवेश करते है तो  उनसे लड़ने के लिए हमारा शरीर प्रतिरक्षी उत्पन्न करता है |

►  एंथ्रेक्स मनुष्यों और मवेशियों में होने वाला घातक रोग है, जो जीवाणुओ द्वारा होता है

किण्वन ( Fermentation ) – जौ, गेहूँ, चावल एवं फलों के रस में मौजूद शर्करा को यीस्ट ( सूक्ष्मजीव ) द्वारा अल्कोहल में बदला जाता है | चीनी के अल्कोहल में बदलने की यह प्रक्रिया किण्वन कहलाती है |

लाक्टोबैसिलस – दही में मुख्य रूप से पाए जाने वाल सूक्ष्मजीव जो दूध दही में बदलत हैं |

►  मादा एनोफिल मच्छर मलेरिया के परजीवी प्रोटोजोवो ( प्लाजमोडियम ) और मादा एडीस मच्छर डेंगू के विषाणु के वाहक हैं |

पश्चरीकरण – दूध को 70०  C  पर 15 से 30 सेकंड के लिए गर्म करते हैं फिर एकाएक ठंडा कर उसका भंडारण कर लेते हैं | ऐसा करने से सूक्ष्मजीव की वृद्धि रुक जाती है, इस प्रक्रिया को पश्चरीकरण कहते हैं |

टीका ( वैक्सीन ) – टीका मृत्य सूक्ष्मजीवों से बनी होती है | मृत्य सूक्ष्मजीव के शरीर में प्रवेश करने पर हमारा शरीर उनको बढने से रोकने के लिए  प्रतिरक्षी उत्पन्न करते है, और जब उसी प्रकार के जीवित सूक्ष्मजीव हमारे शरीर में प्रवेश करते है तब हमारे शरीर फिर से उसी प्रतिरक्षी को उत्पन्न करने में सक्षम होते हैं | जिससे हमारा शरीर उन्हें फिर से मार देतें है और बीमारी को ख़त्म कर देते हैं |

► सूक्ष्मजीवो द्वारा होने वाले एसे रोग जो एक संक्रमित व्यक्ति से स्वस्थ व्यक्ति में वायु, जल, भोजन अथवा शारीरिक संपर्क द्वारा फैलता हैं, संचरणीय  रोग कहलाते हैं | जैसे – हैजा, समान्य सर्दी-जुकाम इत्यादि |

 


पाठ से (From Chapter)

 

सूक्ष्मजीव (Micro-Organisms)

वे जीव जिन्हें हम साधारण आखों से नही देख सकते सूक्ष्मजीव कहलाते हैं | ये आकर में बहुत छोटे होते हैं जिसे सूक्ष्मदर्शी यंत्र की सहायता से देखते हैं |

सूक्ष्म जीवों को मुख्यतः चार वर्गो में बता गया है –

(1) जीवाणु –

स्पाइरल जीवाणु

स्पाइरल जीवाणु

 

जीवाणु

छड़नुमा जीवाणु

(2) कवक –

 

कवक

कवक

(3) प्रोटोजोआ –

अमीबा

अमीबा

(4) शैवाल –

विषाणु

विषाणु

 

विषाणु – यह भी एक प्रकार का सूक्ष्म जीव है | ये जीवाणु से भी छोटे होते हैं | ये सूक्ष्मजीवो के चार वर्गो में नही आते क्योंकि यह स्वतंत्र रूप से निर्जीव होते हैं परंतु सजीवों के शारीर में एक सजीव की तरह व्यवहार करतें हैं |

उदाहरण – कोरोना वायरस |

 

सूक्ष्मजीवों का मित्र के रूप में व्यवहार —
  • सूक्ष्मजीव भोज्य पदार्थो को बनाने में सहायक होती है |
  • यह अल्कोहल एवं औषधि बनाने में उपयोगी होते हैं |
  • दूध से दही बनाने में इसका उपयोग होता है |
  • इसका उपयोग कृषि उत्पादन में वृद्धि तथा पर्यावरण को स्वच्क्ष रखने में किया जाता है |

 

सूक्ष्मजीवों का शत्रु  के रूप में व्यवहार —
  • सूक्ष्मजीव हमारे भोजन को खराब करते हैं |
  • सूक्ष्मजीव हमारे शरीर को बीमार कर देते हैं |
  • यह पौधो में बीमारियाँ उत्पन्न  करतें हैं |

 

मानव में रोग उत्पन्न करने वाले सूक्ष्मजीव —
मानव रोग रोगकारक सूक्ष्मजीव संचरण का तरीका 

हैजा

टाइफाइड

जीवाणु जल/भोजन

जल

चिकनपोक्स

पोलियो

विषाणु वायु /सीधा संपर्क

वायु/जल

मलेरिया प्रोटोजोवा मच्छर

 

सूक्ष्मजीवों द्वारा खाद्य सामग्री पर प्रभाव —

सूक्ष्मजीव हमारे भोजन को खराब  कर देते हैं  जिसके कारण भोजन के रंग, गंध , तथा स्वाद में परिवर्तन आ जाता है |

खाद्य पदार्थो को सूक्ष्मजीव से बचाने की प्रक्रिया को खाद्य परिरक्षण कहतें हैं |

 

खाद्य सामग्री को बचाने के तरीके —

नमक द्वारा परिरक्षण – इसका उपयोग हम आचार तथा मांस-मछली को लम्बे समय तक सुरक्षित रखने के लिए करते हैं |

चीनी द्वारा परिरक्षण – यह खाद पदार्थो में मौजूद नमि को कम कर जीवाणुओ के वृद्धि को कम करता है |

तेल एवं सिरके द्वारा परिरक्षण – ये जीवाणुओ को मार कर भोजन को सुरक्षित रखते हैं | इस विधि द्वारा सब्जियां, फल, मांस तथा मछलियों का परिरक्षण किया जाता है |

गर्म एवं ठंडा करके परिरक्षण – हम इस विधि द्वारा भी भोजन को सुरक्षित कर सकते हैं |

भंडारण एवं पैकिंग द्वारा परिरक्षण – हम भोजन को सुरक्षित रखने के लिए वायुरोधी शील का प्रयोग करते हैं |

 

नाइट्रोजन चक्र (Nitrogen Cycle) –

नाइट्रोजन का वायुमंडल से मृदा, पौधो तथा जन्तु में परिवहन की सम्पूर्ण प्रक्रिया को नाइट्रोजन चक्र कहते हैं |

Nitrogen Cycle

 

 

 

 


 अभ्यास 

लघु उतरीय प्रश्न –

  1. सूक्ष्मजीव कहाँ पाए जाते हैं ?
  2. सूक्ष्मजीव का दो उपयोग बताइए |
  3. किण्वन की खोज किसने और कब की ?
  4. पैनिसिलिन क्या है ?
  5. राइजोबियम क्या है ?
  6. T.B किस जीवाणु के कारण होता है ?
  7. मलेरिया के उपचार हेतु दवा किस वृक्ष के छाल से बनाई जाती है ?
  8. गिलोय के पत्तो के रस का उपयोग किस लिए किस लिए किया जाता है ?
  9. पश्च्यूरिकरण क्या होता है ?
  10. सबसे पहले कौन सा प्रतिजैविक खोजा गया था ?

 

दीर्घ उतरीय प्रश्न –

  1. दही एवं ब्रेड बनाने में सूक्ष्मजीव किस प्रकार हमारी सहायता करते हैं ?
  2. शिशु एवं बच्चो को टीका क्यों लगाया जाता है ?
  3. टीकाकरण क्या है ? यह हमारे लिए क्यों आवश्यक है ?
  4. भोज्य पदार्थो के परिरक्षण के विभिन्न उपायों को लिखे |
  5. सूक्ष्मजीव क्या है ? इन्हें कितने वर्गो में बता गया है ? क्या विषाणु इनसे अलग है, कैसे ?

 

नोट: ऊपर दिए गए प्रश्नों के उत्तर के लिए लिंक पर Click करे|

Download Free Answer PDF

 

अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न –

अतिरिक्त प्रश्न और उत्तर के लिए यहाँ  Click  करें 

 

 

कक्षा – 8 के विज्ञान किताब को डाउनलोड करने के लिए निचे लिंक पर Click करे|

हिंदी माध्यम ||English Medium

 

Go to HOME Page

  सूक्ष्मजीव: मित्र एवं शत्रु (Micro-Organisms: Friend and Foe ) NCERT Class 8 Science Chapter 2   Notes in Hindi Medium. 

  समाप्त  

NEWSLETTER SUBSCRIPTION

Get Monthly And Yearly Magazine Free.

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!