संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक ( Synthetic Fibres and Plastic ) NCERT Class 8 Science Chapter 3 Notes in Hindi मध्यम।  


Chapter 3: संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक ( Synthetic Fibres and Plastic )



प्रमुख शब्द :

► रासायनिक पदार्थो की अनेक छोटी-छोटी इकाइयाँ मिलकर एक बड़ी एकल इकाई बनाते है जो बहुलक ( Polymer ) कहलाती है |

►  कपास भी एक प्राकृतिक बहुलक है जो सेलुलोज से बना है | सेलुलोज बड़ी संख्या में ग्लूकोज ईकाइयों से निर्मित होता है | 

► रेशम रेशे की खोज सर्वप्रथम चीन में  हुई थी | यह हमे रेशम कीट से प्राप्त होता है |

वह पदार्थ जो प्राकृतिक प्रक्रिया, जैसे जीवाणुओं द्वारा अपघिटत हो जाता है, जैव निम्नकरणीय (biodegradable) कहलाता है |

वह पदार्थ जो प्राकृतिक अपघटको द्वारा आसानी से विघिटत नहीं होता, जैव अनिम्नकरणीय (non-biodegradable) कहलाता है |

टेफलान एक विशिष्ट प्रकार का प्लास्टिक है जिस पर तेल और जल चिपकता नहीं है | इसिलए इसका उपयोग भोजन
पकाने के पत्रों पर न चिपकने वाली परत के रुप में किया जाता है
|

रेयान को कपास के साथ मिलाकर बिस्तर की चादर बनाते हैं अथवा ऊन के साथ मिलकर कालीन या गलीचा बनाते हैं |

आग बुझाने वाले कर्मचारियों के परिधानों पर मेलामाइन की परत चढ़ी होती है जो उसे अग्निरोधक बनाती है |

 


पाठ से (From Chapter)

रेशा ( Fibres ) – तंतु या धागे जैसी पतली संरचनाए जिसका उपयोग हम कपड़े और अन्य उपयोगी चीज को बनाने में करते हैं |

रेशे दो प्रकार के होतें हैं –

(1) प्राकृतिक रेशे ( Natural Fibres ) – जो रेशे हमे प्राकृतिक स्रोतों, जैसे – पेड़-पौधे या जन्तुओ से मिलतें हैं | जैसे- कपास, रेशम, ऊन इत्यादि |

(2) संश्लेषित रेशे ( Synthetic Fibres ) – जो रेशे कृत्रिम तरीको से प्रयोगशाला में बनाये जातें हैं | संश्लेषित या मानव निर्मित रेशे कहलाते हैं | जैसे- नायलॉन, पॉलिएस्टर इत्यादि |

संश्लेषित रेशे ( Synthetic Fibres ) के प्रकार –

(1) रेयान ( Rayon ) – रेयान एक प्रकार का कृतिम रेशम है जिसे काष्ठ लुगदी के रासायिनक उपचार से प्राप्त किया जाता है | इसे कृतिम रेशम भी कहा जाता है|

(2) नायलॉन (Nylon) – नायलॉन भी एक कृतिम रेशा है जो इतना मजबूत होता है कि इससे नायलॉन पैराशूट और चट्टानों पर चढने हेतु रस्सी बना सकते है | नायलॉन का निर्माण कोयला, जल और वायु से किया जाता है |

(3) पॉलिएस्टर (Polyester) – पॉलिएस्टर एक प्रकार का संश्लेषित रेशा है | इसका उपयोग वस्त्र निर्माण में किया जाता है | टेरीलीन एक लोकप्रिय पॉलिएस्टर है | इससे काफी महीन रेशे खिचे जा सकतें हैं |

(4) ऐक्रेलिक (Acrylic) – ऐक्रेलिक एक अन्य प्रकार का संश्लेषित रेशा है जो ऊन के जैसा दिखाई देता है | यह एक प्रकार का कृतिम ऊन है |

संश्लेषित रेशो के गुणधर्म
  • ये कम जल सोखते हैं तथा आसानी से सुख जाते है |
  • संश्लेषित रेशे अधिक टिकाऊ होते हैं |
  • कम महंगे होते हैं |
  • असानी से उपलब्ध हो जाते हैं |
  • रखरखाव में सुविधा जनक होते है |

 

प्लास्टिक (Plastic) – संश्लेषित रेशों की तरह प्लास्टिक भी एक बहुलक (Polymer) है | जिसे कोई भी आकार दिया जा सकता है | इसका पुन: चक्रण भी हो सकता है |

प्लास्टिक के प्रकार –

(1) ऊष्मासुघट्य प्लास्टिक (Thermoplastic) – ऐसा प्लास्टिक जो गर्म करने पर असानी से विकृत हो जाता है और सरलतापूर्वक मुड़ जाता है, ऊष्मासुघट्य प्लास्टिक (Thermoplastic) कहलाता है | ऊष्मासुघट्य प्लास्टिक (Thermoplastic) का उपयोग खिलौने, कंघियाँ बोतल तथा पाइपों के निर्माण में किया जाता है |

 उदाहरण – पॉलिथीन और पीवीसी (PVC) आदि |

 

(2) ऊष्मादृढ प्लास्टिक ( Thermosetting Plastic ) – जिस प्लास्टिक को ऊष्मा देकर नर्म नहीं किया जा सकता हो उसे ऊष्मादृढ प्लास्टिक ( Thermosetting Plastic ) कहते है | उदाहरणबैकेलाइट और मेलामाइन आदि |

ऊष्मादृढ प्लास्टिक ( Thermosetting Plastic ) दो प्रकार के होते हैं –

(1) बेकेलाइट –  बेकेलाइट ऊष्मा एवं विधुत का कुचालक है, इसलिए इसका उपयोग कुकर के हत्थों और बिजली के स्विच आदि बनाने में किया जाता है |

(2) मेलामाइन – मेलामाइन एक बहुत उपयोगी पदार्थ है| यह आग का प्रोरतिधक है तथा अन्य प्लाटिक के अपेक्षा इसमें ऊष्मा सहने की क्षमता अधिक होता है | इसका उपयोग फर्श की टाइल्स, रसोई के बर्तन और आग रोधी कपड़े बनाने में किया जाता है |

प्लास्टिक के गुण
  • प्लास्टिक अक्रियाशील होतें हैं |
  • प्लास्टिक हल्का होते हैं |
  • प्लास्टिक मजबूत और टिकाऊ होते हैं |
  • इन्हें विभिन आकारो और रूपों में ढाला जा सकता है |
  • यह धातु से सस्ते होते हैं |
  • प्लास्टिक ऊष्मा और विधुत के कुचलक होते हैं |

 

प्लास्टिक का पुनः चक्रण

पर्यावरण को सुरक्षित और साफ रखने के लिए  प्लास्टिक का पुनः चक्रण करना आवश्यक है | इसमें 4R के सिधांत को सम्मिलित किया गया है |

  • उपयोग कम कीजिय (Reduce),
  • पुन: उपयोग कीजिय (Reuse),
  • पुनः चक्रित कीजिए ( Recycle),
  • पुनः प्राप्त कीजिए (Recover)

 


 अभ्यास 

लघु उतरीय प्रश्न –

  1. संश्लेषित रेशे किसे कहते है ?
  2. रेयाॅन क्या है ? इसे कृतिम रेशम क्यों कहते है ?
  3. उस संश्लेषित रेशे का नाम बताइए जिसका तार इस्पात के तार से भी मजबुत होता है।
  4. पेट (PET) क्या है ?
  5. संश्लेषित रेशों के एक हानिकारक गुण लिखिए।
  6.  ऐक्रेलिक क्या है ?
  7. संश्लेषित रेशों के गुण लिखिए ।
  8. प्लास्टिक कितने प्रकार के होते है ?
  9. सबसे अधिक ऊष्मा सहने की क्षमता वाले प्लास्टिक का नाम लिखिए |
  10. आग बुझाने वाले कर्मचारियों  के परिधानों पर किस पदार्थ की परत चढी होती है और क्यों ?

दीर्घ उतरीय प्रश्न –

  1. ऊष्मासुघट्य प्लास्टिक (Thermoplastic) और ऊष्मादृढ प्लास्टिक ( Thermosetting Plastic ) में अंतर लिखिए |
  2. जैव निम्नकरणीय (biodegradable) और  जैव अनिम्नकरणीय (non-biodegradable) में अंतर लिखिए |
  3. बहुलक किसे कहते है ? दो बहुलाको के नाम दीजिए |
  4. नायलॉन का तीन उपयोग बताइए |
  5. खाद्य पदार्थो के संचयन करने हेतु प्लास्टिक पत्रों के उपयोग के तीन प्रमुख लाभ बताइए।

 

नोट: ऊपर दिए गए प्रश्नों के उतर के लिए लिंक पर Click करे|

Download Free Answer PDF

 

अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न –

अतिरिक्त प्रश्न और उत्तर के लिए यहाँ  Click  करें 

 

कक्षा – 8 के विज्ञान किताब को डाउनलोड करने के लिए निचे लिंक पर Click करे|

हिंदी माध्यम ||English Medium

 

Go to HOME Page

 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक ( Synthetic Fibres and Plastic ) NCERT Class 8 Science Chapter 3   Notes in Hindi Medium.

  समाप्त  

NEWSLETTER SUBSCRIPTION

Get Monthly And Yearly Magazine Free.

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!